1 एसएसपी क्या है ? (स्कूल शिक्षा परिवार राजस्थान)

 स्कूल शिक्षा परिवार राजस्थान एक पंजीक्रत संगठन है जो मान्यता प्राप्त स्कूल्स के छात्रो, टीचर्स व संचालको के हितो के लिए सरकार व समाज के बीच कड़ी का कम करता  है । इसका मुखयालय जयपुर मे है । ये है 2014 से कार्यरत है ।

2 एसएसपी स्कूल्स क्या है ?

    एसएसपी राजस्थान की शिक्षा मे क्रांतिकारी बदलाव लाने की एक महत्वाकांक्षी योजना है । जिसके तहत – “ शिक्षा को बिज़नस की बजाय सामाजिक जिम्मेवारी समझने वाले लोगो को मिला कर हमने SSP schools बनाया है । ”

3 हमारा उद्देश्य -

एसएसपी स्कूल्स के माध्यम से ब्रांडेड और कोस्टली  शिक्षा को आम आदमी के बजट मे लाना एंव छात्र की अभिरुचि /क्षमता के अनुरूप पाठ्यक्रम बना कर उसे स्ट्रैस फ्री, कैरियर ओर्रींटेड शिक्षा देना ही हमारा प्रमुख उद्देश्य है ।

4 मिशन –

अभी राजस्थान मे और बाद मे पूरे देश मे ऐसी ही स्कूल्स की चैन बना कर पूरे देश मे बदलाव लाना ही हमारा मिशन है अभी राजस्थान मे 1000 से अधिक स्कूल्स जुड़ चुके है और 4000 जुडने की कतार मे है पहले हम इनमे बदलाव कर दे फिर आगे  देश भर मे अन्य स्कूल्स को जोड़ कर देश की सबसे बड़ी चैन बनाने का लक्ष्य है।

5 एक स्टूडेंट को क्या फायदा होगा इससे ?

हर स्टूडेंट चाहता है की उसे पढ़ने की बजाए सीखने की पूरी आजादी मिले ! और इसीलिए वह अच्छे से अच्छे स्कूल मे पढ़ने जाता है ।  सारे बच्चे वर्षों यही चाहते है परंतु परिणाम फिर भी नही मिल रहा ? ये समस्या किसी एक  की नही सब की है खासकर मध्यम वर्गीय /गरीब बच्चो  की !

एसएसपी  स्कूल्स मे हमने इस समस्या का समाधान करने की एक ईमानदार कोशिश की है जहां
पूरे राजस्थान से sspschool.in के माध्यम से –

  • DMIT Test दुवारा हम प्रत्येक बच्चे की बोर्न qualities (strength) और सीखने की क्षमता व तरीका जान कर पैरेंट्स को बता कर स्टूडेंट्स की इच्छा के अनुसार carrier oriented एडुकेशन देने का प्लान बनाया है ।
  • Passionable, Curious, Good Communicative Skills एंड having good नॉलेज वाले लोगो को शिक्षण का मौका देंगे ताकि बच्चो को पढ़ने की बजाए सीखने अवसर दिया जाए । हम सामान्य टीचर्स नही रखेंगे ।
  • पढ़ाई मे होशियार बच्चो को NDA /NAVY और आईआईटी / जेईई /मेडिकल आदि के entrance exam की तैयारी करवाएँगे ।
  • पढ़ाई मे कमजोर एवं अन्य गतिविधियों मे होशियार छात्रो को उनकी रुचि के अनुसार रोजगारोंमुखी शिक्षा की व्यवस्था ।
  • पैरेंट्स की परेंटिंग ताकि बच्चो से अनावश्यक आपेक्षा ना करें
  • लाइव क्लास – महंगे टीचेर्स द्वारा क्वालिटी शिक्षण ।
  • छात्र की अभिरुचि क्षमता व सीखने के तरीके पर आधारित टीचिंग मैथड । (DMIT द्वारा)
  • What to (Indian teaching Method) की बजायhow to (फ़ॉरेन टीचिंग मेथड) टीचिंग मेथड अर्थात हम बच्चो को सिर्फ पढ्ना सिखाएंगे ना की, particular टॉपिक । जैसे – वर्तमान सिस्टम मे हम मारुति चलना सीखा रहे है तो बच्चा मारुति चला लेता है और जैसे ही हम किसी और vehicle चलाने की बात करते है, तो वह मना कर देते है, बस हमारे एडुकेशन सिस्टम की सबसे बड़ी कमी यही है – जबकि हम चलना सिखाएँगे ताकि कोई भी vehicle चला सके ।
  • स्कूल मे स्पोर्ट्स सुविधा नही होने के बावजूद, स्पोर्ट्स पार्क के माध्यम से खेल प्रतिभाओ का विकास किन्तु स्टूडेंट मे वो quality हो ।
  • पढ़ाई मे कमजोर एवं अन्य गतिविधियों मे होशियार छात्रो को उनकी रुचि के अनुसार रोजगारोंमुखी शिक्षा की व्यवस्था ।
  • Concept आधारित और न्यू टीचिंग तकनीक आधारित शिक्षा ।
  • Life स्किल्स – किताब और स्कूल के बाहर, जीवन शिक्षा भी

6 आप हमारी मदद कैसे कर सकते है ?

यदि आपको लगता है की हम लोग कुछ नया करने का प्रयास कर रहे है और ऐसा करना  चाहिए भी तो अधिक से अधिक बच्चो का एसएसपी स्कूल्स मे एड्मिशन करवाने हेतु प्रेरित करे और कोई सुझाव हो तो ईमेल जरूर करे ।

SEND FEEDBACK